Google Public Alert आपके लिए एक संकट के दौरान त्वरित और महत्वपूर्ण जानकारी एकत्र करने का एक तरीका है। यह सुविधा दो साल से सक्रिय है, और अब Google प्राकृतिक आपदाओं के बारे में दृश्य जानकारी जोड़कर आपके द्वारा प्राप्त जानकारी को अपडेट कर रहा है, साथ ही Google मानचित्रों पर एक नया नेविगेशन चेतावनी प्रणाली  भी है जिससे आप अनुमान लगा सकते हैं कि आपदा का नेतृत्व कहाँ हुआ था।

भूकंप, तूफान और बाढ़ के समय, Google वास्तविक समय, विस्तृत दृश्य जानकारी प्रदान करेगा कि जमीन पर क्या करना है।

उदाहरण के लिए, यदि आपके रास्ते में कोई तूफान आता है, तो Google एक मार्ग का पूर्वानुमान लगाएगा, और तूफान आने वाले दिनों में, यदि आप प्रभावित क्षेत्रों में या उसके पास हैं तो आपको एक इमरजेंसी  सूचना कार्ड प्राप्त होगा।

इस में आने वाले  तूफान या आपदा का अनुमानित समय दिया होता है, साथ ही आप ये भी जान पाएंगे की ये  तूफान कब तक खत्म होगा  और इससे बचने की योजना कैसे बनाई जाएगी।

ऐसा ही भूकंप की परिस्थिति में भी होगा, आपको भूकंप की तीव्रता दिखाई जाएगी| साथ ही  कलर कोडिंग से आपको आसपास के क्षेत्रों में किसी भी झटकों की सूचना देगा।

यदि आपके क्षेत्र में कोई संकट है, तो बाधित क्षेत्रों से बचने के लिए Google मानचित्र आपके मार्ग को अपडेट करेगा।

Google ने लगभग दो साल पहले Google मानचित्र और खोज में पहली बार शुरू की गई सुरक्षा सुविधा, SOS अलर्ट में कई वृद्धि की घोषणा की है.

एसओएस अलर्ट्स को प्राकृतिक आपदाओं और मानव-प्रेरित आपदाओं के दौरान महत्वपूर्ण सूचनाओं को सतह पर रखने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें जंगल की आग पर नज़र रखना, स्थानीय समाचार कवरेज, ट्विटर अपडेट, प्रासंगिक टेलीफोन नंबर, और किसी कारण से दान करने के तरीके शामिल हैं।

गूगल अलर्टस में कई अपडेट किये जा रहे हैं. जैसे की Google मैप्स अब तूफान के दृश्य दिखाएगा। अपेक्षित तूफान आने से पहले के दिनों में, उपयोगकर्ताओं को एक चेतावनी कार्ड दिखाई देगा, यदि वे इसके मार्ग में हैं।

आने वाले महीनों में, Google अतिरिक्त अलर्ट जोड़ेगा, अगर उसे लगता है कि कोई संकट आपकी ड्राइव को प्रभावित कर सकता है, और यह आपको किसी भी खतरे वाले क्षेत्र को साफ करने में मदद करने की कोशिश करेगा।

आपको पता है  भारत में गूगल मैप्स उपयोगकर्ता बहुत बड़ी संख्या में हैं, जहां हाल के वर्षों में सबसे विनाशकारी बाढ़ आए हैं, गूगल पब्लिक अलर्टस पिछले आये बाढ़ों का रिकॉर्ड भी रखेगी और फिर उस हिसाब से आपको डाटा शो करेगी।

एसओएस अलर्ट फेसबुक के सेफ्टी चेक के समान हैं, जो 2014 में वापस लॉन्च किया गया था। इस प्रकार की विशेषताएं प्रदर्शित करती हैं कि बड़े पैमाने पर प्लेटफॉर्म का उपयोग संकट के समय में लाखों लोगों की मदद के लिए कैसे किया जा सकता है।

दरअसल, Google की पहुंच का उपयोग संकट से संबंधित सभी तरह की सूचनाओं को व्यक्त करने के लिए किया जाता है, जैसे कि एएमईईआर अलर्ट लापता बच्चों का पता लगाने और नशीली दवाओं के निपटान के स्थानों का पता लगाने के लिए।

अमेरिका, मैक्सिको, कैरिबियन, पश्चिमी यूरोप, जापान, ताइवान, चीन, फिलीपींस, वियतनाम, थाईलैंड, और दक्षिण कोरिया में आने वाले हफ्तों में नए तूफान के दृश्य अपने सभी मोबाइल और डेस्कटॉप प्लेटफार्मों पर Google द्वारा देख पाएंगे। भूकंप के झटकों और नेविगेशन की चेतावनी विश्व स्तर पर उपलब्ध होगी, जबकि गंगा और ब्रह्मपुत्र क्षेत्रों में विस्तार से पहले पटना (भारत )में नए बाढ़ पूर्वानुमान उपकरण शुरू हो जाएंगे।

गूगल पब्लिक अलर्ट ने मुझे भेजी बाढ़ की सुचना 

अभी हाल ही कुछ समय पहले अपने घर पे था| मेरा घर बिहार के दरभंगा जिले में है । आपको पता होगा वंहा अक्सर बाद आती है. वैसे मेरे शहर के आस पास की जगह बाढ़ से बहुत प्रभावित थी। आपने न्यूज़ में भी देखा होगा, मुझे ऐसे ही अचानक दोपहर के समय गूगल पब्लिक अलर्ट का एक नोटिफिकेशन आया।

जन्हा ये बताया गया था की आपके शहर के आस पास बाढ़ का पानी आ चूका है। जब मैंने अपने स्तर पर इस बात की पुष्टि की तो पता चला ये बिलकुल सही नोटिफिकेशन था।

नोटिफिकेशन में मुझे ये भी बताया गया की इन इनफार्मेशन को कंहा से लिया गया है। साथ ही बाढ़ की स्थति में मुझे क्या करना चाहिए. कैसे खुद का बचाव करना है। मुझे बहुत अच्छा लगा की गूगल अब आपदा संकट की भी जानकारी हम तक पहुंचा रहा है।

गूगल पब्लिक अलर्ट का प्रयोग कैसे करें? 

वैसे तो गूगल आपदा के समय अपने आप अलर्ट जारी कर देता है। लेकिन आप गूगल पब्लिक अलर्ट पर जा कर खुद भी देख सकते हैं, की विश्व में कंहा आपदा आई है।

आपको गूगल पब्लिक अलर्ट की साईट पर जाना होगा. आपके स्क्रीन पर मैप ओपन हो जायेगा. अब आप किसी ख़ास जगह के लोकेशन को सर्च करके आपदा की जानकारी देख सकते हैं।

आपदा से प्रभावित जगहों को लाल या पीले रंग के स्पॉट से मैप पर दिखाया गया है ।

अभी मैंने पब्लिक अलर्ट पर देखा फैजाबाद, मेघालय और आसाम पर मुझे लाल रंग के स्पॉट नजर आये. क्लिक करने पर पता लगा इन जगहों पर बाढ़ का खतरा मंडरा रहा है। मैं यंहा आपको स्क्रीन शॉट दिखा रहा हूँ ।

 

यंहा मैंने अभी फैजाबाद का स्पॉट चुना है। जन्हा आपको लाल रंग का स्पॉट दिख रहा होगा । कार्नर पर एक नोटिफिकेशन लिंक भी दी गई है। जहाँ क्लिक करके आपको पूरी जानकारी मिल जायेगी, कुछ इस की जानकारी आपको दिख जाएगी।

आप यंहा देख सकते हैं की सूचना का मुख्य श्रोत सेंट्रल वाटर कमीशन है। तो आप आशस्वत हो सकते हैं की जो सुचना दी जारी है उसमे गलती की कोई गुंजाइश ना के बराबर है।

आप गूगल पब्लिक अलर्ट की ऑफिसियल साईट पर जाकर ये सभी डाटा देख सकते हैं।और आपको एक बार जरुर चेक करना चाहिए।

मुझे उम्मीद है इस पोस्ट को आप जरुर शेयर करेंगे ताकि दूसरों के पास भी ये जानकारी पहुँच सके। ताकि दूसरें भी आपदाओं से सुरक्षित रह सकें। आप अपना अनुभव कमेंट में हमसे जरुर शेयर करें। धन्यवाद!

4 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.